fbpx

MeToo के बाद पीड़ित पुरुषों ने चलाया MenToo अभियान, सभी से साझा कर रहे अपनी दर्द भरी कहानी

बीते वर्ष तमाम महिलाओं ने MeToo अभियान चलाया था, जिसमें पीड़ित महिलाओं ने व्यक्तिगत जीवन मे हुए शोषण और प्रताड़ना के अनुभवों को दुनिया के साथ साझा किया था। इस दौरान कई ऐसे चौंका देने वाली कहानियां सामने आ रही थीं जिसमें पीड़ित अपनी 15 या 25 साल पुरानी घटना को समाज के सामने रखती नज़र आती थीं।

पीड़िताओं का कहना था कि उस समय वे हिम्मत न जुटा सकीं इसीलिए वे आज इस बात को सभी के साथ साझा कर रही हैं। लेकिन इसी दौरान तमाम ऐसी बातें भी सामने आईं जिसमें कई महिलाओं ने पुरुषों को झूठे आरोपों में फंसा दिया, जिसके कारण पुरुषों को तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ा। एक झूठे आरोप के कारण कई पुरुषों का करियर, सम्मान और पारिवारिक जीवन सब कुछ बर्बाद हो गया।

इसी कारण अब पीड़ित पुरुषों ने MenToo अभियान की शुरुआत की है। इसमें वे अपने ऊपर लगे झूठे आरोपों को दुनिया से साझा करते हैं और यह भी बता रहे हैं कि एक झूठे आरोप के कारण उनका जीवन कैसे बर्बाद हो गया।

पुरुषों के समर्थन में कई महिलाएं भी सामने आ चुकी हैं और उनका कहना है कि पुरुष एवं महिला दोनो ही निजी स्वार्थ के कारण किसी को झूठे आरोप में फंसा सकते हैं। ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि यदि कोई महिला है तो उसे सच्चे होने का सर्टिफिकेट मिल जाता है। इस मामले में न्याय व्यवस्था में सुधार करना और समाज को जागरूक होने की आवश्यकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.